rohit_420

My Real Life
Ad 2:
Digital Ocean
Providing developers and businesses with a reliable, easy-to-use cloud computing platform of virtual servers (Droplets), object storage ( Spaces), and more.
2022-11-24 07:27:46 (UTC)

कविता 15

भर कर मांग तुमने मेरी अपना मुझे बना लिया,
कैसे ना कहूँ तुम्हे अपना मैं जब तुमने मुझे अपना लिया,
मेरी चूड़ी, मेरे कंगन, तेरे लिए सजाये हैं मैंने,
लगाईं है मेहँदी, लिखा है तेरा नाम मैंने,
मेरी रूह में, मेरी धड़कनो में अब बसते हो तुम्ही,
कैसे हो सकती हूँ मैं जुदा तुमसे, मेरी ज़िंदगी रचते हो तुम्ही,
तुम पर आकर खत्म हो जाती है ये ख्वाहिशें,
जो कल तक मुझे यूँ सताती थी,
हर पल, हर घड़ी, मुझे ये तड़पाती थी,
कर दूँ मैं न्योछावर तुम पर बस,
हुक्म कर दो एक बार.....
तड़पी हूँ मैं ना जाने कितने रोज़,
पाने के लिए तुम्हारा प्यार.....!

#yqdidi #yqbaba #rohit #dulhan #rohit_sharma_poetry
Inspired by my lovely dear friend miss Naina Mehta ji
उम्मीद है आपको पसंद आयेगा.....!


Ad:0
yX Media - Monetize your website traffic with us